Tuesday, 11 October 2016

क्या आप जानते हैं

 आइसलैंड का नाम सार्थक ही था यहॉं सालों साल  बर्फ जमी रहती है लेकिन जून 1991 गर्मी की लहर ने वहॉं के निवासियों को परेशान कर दिया उस बार अधिकतम तापमान 29 डिगरी सेल्सियस पहुॅंच गया । इतनी धूप इतनी गर्मी कभी नहीं पड़ी ठंडी जगह की कामना में समुद्र के किनारे स्विमिंग पूल भरे रहने लगे ।शीतल पेय वियर आदि की खपत बड़ गई
वर्फ पर फिसलने की कामना लिये आये र्प्यटकों को स्विमिंग पूल सा पिघलती वर्फ देखकर ही संतोष करना पड़ा क्योंकि सरकार ने चेतावनी देदी थी कि ग्लेशियर के करीब न जायें । मौसम विशेषज्ञों का कहना था कि योरोप से आये हाई प्रैशर जोन की वजह से गर्मी का यह हाल हुआ ।इटली के जिन हिस्सों में बसंत आना चाहिये था वहॉं घुटनों घुटनों वर्फ थी ।



बम्बइया फिल्म पार्टनर हिच  फिल्म से प्रोत्साहित थी हिच ‘एक छोटी सी बात फिल्म की रिमेक थी ।अमोल पालेकर विद्यासिन्हा अभीनीत थी ।



कहो ना प्यार है को 92 पुरस्कार मिले 2002 की गिनीज बुक और वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज है ।
शोले सफलतम फिल्म है लेकिन इसे केवल एक पुरज्ञकार मिला ।


बालीबुड में हालहबुड से महले फिल्म बनने लगी थी बालीवुड की प्रथम प्रदर्शित फिल्म 1899 में जब कि हॉलीबुड में 1907 में प्रदर्शित हुई 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...