Friday, 15 July 2016

हिरन का शिकार

लालजी को हिरन के शिकार का बहुत शौक  था। जब वे पांचवी बार हिरण के लिए शिकारगाह के रेस्टहाउस पहुंचे और उन्होंने अपना सूटकेस खोल तो सबसे ऊपर किसी पत्रिका से काटे गए हिरन का चित्र पाया चित्र के साथ श्रीमती जी द्वारा लिखी गई दो पंक्तियां थी ठीक से पहचान लो हिरन इस तरह का होता है। 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...